डिजिटल मार्केटिंग क्या है? डिजिटल मार्केटिंग कैसे करें

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? : डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) इस नाम को तो आपने कहीं ना कहीं सुना ही होगा जैसा कि हमने पिछले (मार्केटिंग क्या है) आर्टिकल में विभिन्न प्रकार की मार्केटिंग के बारे में बताया था तो उसी में से डिजिटल मार्केटिंग भी मार्केटिंग का एक रूप ही है डिजिटल मार्केटिंग को वेबसाइट, सोशल मीडिया, ईमेल, मोबाइल एप्लिकेशन, ब्लॉगिंग, वीडियो मार्केटिंग, और अन्य डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म्स का उपयोग करके किया जाता है

आज के इस आर्टिकल में आपको डिजिटल मार्केटिंग क्या है, डिजिटल मार्केटिंग कैसे काम करती है, डिजिटल मार्केटिंग के फायदे और डिजिटल मार्केटिंग कैसे करें, जैसे सभी सवालों के जवाब मिलने वाले हैं इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? What is Digital Marketing

डिजिटल मार्केटिंग का मतलब है इंटरनेट और इलेक्ट्रानिक माध्यमों का उपयोग करके प्रोडक्ट और सर्विस को प्रमोट करना और उनकी बिक्री को बढ़ाना हैं डिजिटल मार्केटिंग एक मार्केटिंग का प्रकार है जो वेबसाइट, सोशल मीडिया, ईमेल, मोबाइल एप्लिकेशन, ब्लॉगिंग, वीडियो मार्केटिंग, और अन्य डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म्स का उपयोग करती है। डिजिटल मार्केटिंग का उद्देश्य प्रोडक्ट या सर्विस की उपलब्धता को बढ़ाना है,

उसे प्रोडक्ट के बारे में जागरूक करना प्रोडक्ट के प्रति विश्वास बढ़ना, कस्टमर को आकर्षित करना और कस्टमर केयर कम्युनिकेशन को बनाए रखना होता है, डिजिटल मार्केटिंग एक लाभकारी और प्रभावी उपाय हैं बिजनेस के लिए जोकि किसी भी व्यवसाय को इस आधुनिकता के दौर में आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण है।

अगर इस सिंपल भाषा में समझाऊं तो डिजिटल मार्केटिंग का मतलब है इंटरनेट के द्वारा ग्राहकों तक प्रोडक्ट की पहुंच जैसा आप फोन चलाते हो तो आपके सामने किसी न किसी प्रकार का विज्ञापन आता है या फिर कोई वीडियो आती है जिसमें आपको उसे प्रोडक्ट के बारे में सजेस्ट किया जाता है इसे ही डिजिटल मार्केटिंग कहते हैं, इसमें खर्च भी काम होता है और टारगेट ऑडियंस के पास भी पहुंच जाते अपने इंटरनेट पर जूते सर्च किया तो आपके सामने जूते का ही विज्ञापन आएगा।

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार

वैसे तो Digital Marketing के कई सारे प्रकार हैं लेकिन हम आपको पॉपुलर डिजिटल मार्केटिंग के कुछ प्रकार बताते हैं

डिजिटल मार्केटिंग के कुछ प्रमुख प्रकार हैं:

1, सोशल मीडिया मार्केटिंग :-

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का उपयोग करके ब्रांड की पहचान बढ़ाने और कस्टमर को आकर्षित करने की प्रक्रिया भी डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत आता है कई सारे इनफ्लुएंसर (Influencer) को भी हायर किया जाता है जो ब्रांड को प्रमोट करते हैं कई सारे अपने स्टार को ब्रांड का प्रमोशन करते हुए देखा होगा यह भी मार्केटिंग का हिस्सा है क्योंकि उन्हें फॉलो करने वाले ब्रांड के बारे में जानने के लिए उत्सुक रहेंगे और इससे ब्रांड की ग्रोथ होगी।

2, ईमेल मार्केटिंग :-

ईमेल मार्केटिंग में लोगों का डाटा इकट्ठा किया जाता है फिर जब भी कोई नया प्रोडक्ट आता है तो उन्हें ईमेल के माध्यम से मैसेज भेज कर ग्राहकों से संवाद किया जाता है या फिर उन प्रोडक्ट के बारे में बताया जाता है जिससे ग्राहक उसे प्रोडक्ट को खरीद ले या उसे सेवा को खरीद ले आप भी अपने ईमेल में चेक कर सकते हैं आपको भी कई सारे ब्रांड का मेल आ रखा होगा।

3, वीडियो मार्केटिंग :-

वीडियो कंटेंट के माध्यम से आजकल बहुत ज्यादा प्रोडक्ट बेचे जाते हैं क्या कोई भी सर्विस बेची जाती है अपने यूट्यूब पर देखा होगा यूट्यूब पर किसी न किसी चीज को प्रमोट करते हुए नजर आएंगे यह सब इस डिजिटल मार्केटिंग का ही हिस्सा है क्योंकि वीडियो के माध्यम से ग्राहकों को विशेषज्ञता और प्रोडक्ट की अच्छी जानकारी मिल जाती हैं और वह उसे खरीदने के लिए उत्सुक हो जाते हैं।

4, ब्लॉगिंग :-

जैसे वीडियो कंटेंट है उसी प्रकार ब्लॉक पोस्ट के माध्यम से भी उपयोगकर्ताओं को प्रोडक्ट और सर्विस के बारे में जानकारी प्रदान करने और वेबसाइट के ट्रैफिक को बढ़ाने की प्रक्रिया है, आपने इंटरनेट पर कुछ भी सर्च किया तो आपके सामने हजारों वेबसाइट आ जाएगी जो अपने उत्पादों को ऑनलाइन बेचती है जिसे हम आसान भाषा में डिजिटल मार्केटिंग कहते हैं।

5, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) :-

अब आप यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं तो इसका सो हमने अच्छी तरह से किया है इसलिए यह आपको फर्स्ट पेज के आसपास मिल गया ठीक उसी प्रकार किसी भी प्रोडक्ट का भी SEO होता है जिससे हम जब भी उसे चीज के बारे में सर्च करेंगे तो वह हमारे सामने सबसे पहले आएगा इस तरह आजकल हजारों बिजनेस grow कर रहे हैं।

6, पेड एड्स :-

आप यूट्यूब पर जा हमारी वेबसाइट पर जैसे ही आर्टिकल पढ़ रहे हैं तो आपको जो ऐड दिख रहे हैं इसे ही पेड एड्स कहते हैं, क्योंकि paid ads जो भी होता है वह ग्राहकों के सामने जल्दी पहुंचता है और यह डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बढ़िया तरीका है और इसमें हम टारगेटिंग कस्टमर के पास पहुंच सकते हैं जबकि हम दूसरे मार्केटिंग तरीके में जाए तो वह थोड़ा महंगा और टारगेटिंग लोगों तक पहुंचना मुश्किल होता है और आजकल सोशल मीडिया इंटरनेट सब इसी की बदौलत चल रहे हैं।

7, एफिलिएट मार्केटिंग :-

कुछ कंपनियां अपने प्रॉडक्ट्स की सेल बढ़ाने और उनको प्रमोट करने के लिए प्रमोट करने वाले लोगों को कुछ कमीशन देती हैं इसे ही एफिलिएट मार्केटिंग कहते हैं, क्योंकि इसमें प्रमोट करने वाले कभी फायदा कंपनी का भी फायदा क्योंकि प्रमोट करने वाला जानता है इसे कहां पर पहुंचाना है इसलिए उसके थ्रू जितनी भी सेल होती हैं उसका कंपनी उसे कमीशन दे देती है और यह डिजिटल मार्केटिंग का सबसे अच्छा तरीका है और लोग आगे होकर यह काम करते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग कैसे करें

ऐसे करें डिजिटल मार्केटिंग निम्नलिखित चीजों को ध्यान में रखते हुए –

  1. लक्ष्य निर्धारित करें: सबसे पहले, अपने बिजनेस के लिए स्पष्ट लक्ष्य और उद्देश्य निर्धारित करें। आपको किन लोगों तक पहुंचना है।
  2. ऑफिशल वेबसाइट बनाएं: आपकी कंपनी के लिए एक आधिकारिक वेबसाइट बनाएं जो आपके प्रोडक्ट और सर्विस को प्रस्तुत करे। ताकि जब भी कोई नाम सुनके इंटरनेट पर जाकर सर्च करें तो उसे पक्का विश्वास हो जाए हैं कि आप ओरिजिनल है।
  3. सोशल मीडिया प्रचार करें: सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपने ऑफिशियल अकाउंट बनाएं और अपने प्रोडक्ट से रिलेटेड जानकारी और जागरूकता के साथ में प्रमोट करें ताकि लोगों का प्रोडक्ट के प्रति विश्वास बने बड़े-बड़े इनफ्लुएंसर को अपने साथ जोड़ें।
  4. ईमेल मार्केटिंग का उपयोग करें: ग्राहकों को नवीनतम अपडेट्स और प्रोमोशनल ऑफर्स के लिए ईमेल भेजें।
  5. ब्लॉग लेखन: अपने व्यापार से जुड़े विषयों पर ब्लॉग लिखें और ग्राहकों को अनुभव साझा करें। बड़ी से बड़ी कंपनी भी यह काम करती है और यह व्यापार करने का सबसे बढ़िया और डिजिटल मार्केटिंग का बेहतरीन तरीका है।
  6. SEO का उपयोग करें: वेबसाइट को सर्च इंजन में ऊपर लाने के लिए उपाय करें बिल्कुल सटीक ढंग से SEO करें नहीं आता तो सीखे।
  7. वीडियो मार्केटिंग: वीडियो कंटेंट का उपयोग करके अपने उत्पादों या सेवाओं को प्रचारित करें।
  8. ऑनलाइन विज्ञापन: विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स पर विज्ञापन चलाएं ताकि अधिक लोग आपके व्यापार के बारे में जानें।
  9. एफिलिएट मार्केटिंग: अन्य कंपनियों के उत्पादों को प्रमोट करके कमीशन प्राप्त करें।
  10. मार्केटिंग डेटा का एनालिसिस: अपने मार्केटिंग कार्यक्रम के प्रभाव को मापें और विश्लेषण करें ताकि आप अपने स्ट्रेटजी को सुधार सकें।

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे?

डिजिटल मार्केटिंग के कई फायदे हैं:

1, विश्वसनीयता :-

डिजिटल प्रचार प्रसार के माध्यम से हम अपनी कंपनी के लिए ग्राहकों का विश्वास जीत सकते हैं क्योंकि हम जितना ज्यादा ऑनलाइन उनके सामने आएंगे उनको उतना विश्वास होता जाएगा और वह हमारे रेगुलर कस्टमर बन जाएंगे। यह फायदा है डिजिटल मार्केटिंग का।

2, ‌ टारगेटिंग ऑडियंस :-

किसी भी मार्केटिंग यह ऑप्शन नहीं मिलता है जबकि डिजिटल मार्केटिंग में आप अपने टारगेट कस्टमर को सीधे फोकस कर सकते हैं और आप उन्हीं लोगो दिखाई देंगे जो आपके बारे में रुचि रख रहे हैं या जानना चाहते हैं क्योंकि सोशल मीडिया और इंटरनेट इसी प्रकार काम करता है जिससें व्यापारी को मार्केटिंग का बहुत कम खर्च आता है।

3, बिजनेस का विस्तार :-

डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से हम दुनिया के किसी भी कोने में मार्केटिंग कर सकते हैं और अपने प्रोडक्ट और सर्विस को कहीं भी बेंच सकते हैं और नए मार्केट में जगह बना सकते हैं जबकि दूसरी ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है इसके थ्रू हम कम खर्चे में दूसरे मार्केट में पहुंच जाए लेकिन डिजिटल मार्केटिंग से यह संभव है।

4, ‌कम लागत :-

बाकी किसी भी मार्केटिंग में हम जाए तो बहुत खर्चा होता है लेकिन डिजिटल मार्केटिंग को अगर हम ध्यान से करते हैं तो यह काफी कुछ तो मुफ्त में ही मिल जाता है अगर हम पब्लिक को कंटेंट साथ में प्रोवाइड करें तो हमारी मार्केटिंग फ्री में हो जाएगी और जैसे मार्केटिंग का काफी पैसा बच जाएगा जबकि दूसरे सेक्टर में मार्केटिंग करेंगे तो बहुत पैसा लगता है और इंटरनेट का तो आपको पता ही है रातों-रात कुछ भी वायरल हो सकता है।

5, प्रभावी प्रचार :-

दुनिया में आजकल हर कोई इंटरनेट से जुड़ा है इसलिए हम लाखों लोगों तक अपने प्रोडक्ट और सर्विस को पहुंचा सकते हैं और जो भी प्रचार करेंगे वह सीधे ग्राहकों को दिखाई देंगे और सोशल मीडिया के साथ में ऑनलाइन विज्ञापनों के द्वारा हम किसी भी कोने में अपने विज्ञापन को दिखा सकते हैं और वहां से ग्राहक को ला सकते हैं।

6, रिजल्ट की मॉनिटरिंग :-

डिजिटल मार्केटिंग ऑनलाइन प्रचार प्रसार के परिणामों को देखकर हम आगे के कार्य रणनीति तय कर सकते हैं, क्योंकि इसे हमें पता चलता है कि हमें क्या करना है और कौन सा प्रोडक्ट लोगों को पसंद आ रहा है या कौन सी चीज लोगों को अभी के टाइम में पसंद आ रही हैं और हम जो चीज दे रहे हैं क्या वाकई वह ग्राहक को पसंद आ रही हैं जिससे हम आगे कप्लान देख सकते हैं और प्रचार को भी देख सकते हैं।

7, कम्युनिकेशन :-

किसी भी व्यापार में कम्युनिकेशन और फीडबैक बहुत जरूरी है डिजिटल मार्केटिंग में आप ग्राहकों से सीधे संपर्क कर सकते हैं जिससे आपको यह पता चलेगा कि ग्राहक को क्या सोच रखता है और क्या उसकी प्रतिक्रिया है क्या बाकी उसे प्रोडक्ट पसंद आया नहीं आया क्या खामियां हैं क्या आपको सुधार करना चाहिए वह सब आपको ग्राहक तुरंत बता देगा जिससे आप ज्यादा घाटे में नहीं जाएंगे यही डिजिटल मार्केटिंग की खूबसूरती हैं।

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए

देखिए डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कमाने के बहुत सारे रास्ते हैं अगर आपको इंटरनेट पर ऑनलाइन कोई भी काम करने आता है तो आप अच्छे पैसे कमा सकते हैं चलिए स्टेप बाय स्टेप जानते हैं कि डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए।

1, सर्विस देकर :- अगर आपके पास ऑडियंस है या आप डिजिटल मार्केटिंग के बारे में अच्छा ज्ञान रखते हैं और किसी भी प्रोडक्ट को अच्छे से प्रमोट करके टारगेटिंग कस्टमर तक पहुंचा सकते हैं तो आप बहुत अच्छे पैसे कमा सकते हैं।

2, ऑनलाइन कोर्स बेचकर :- देखिए आज के समय में हर कोई सीखना चाहता है और अगर आपके पास डिजिटल मार्केटिंग का अच्छा नॉलेज है तो आप एक कोर्स बनाकर डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कमा सकते हैं।

3, एड्स मैनेज करके :- देखिए हर किसी के पास यह ज्ञान और समय बहुत कम होता है तो वह इसके लिए सर्विस लेते हैं तो आप यह सर्विस दे सकते हैं अगर आपको अच्छे से ऐड प्लेस करना आता है और आप कम पैसों में अच्छी लीड जनरेट कर सकते हैं तो आप यह काम आसानी से कर सकते हैं और इससे बहुत अच्छी आमदनी कर सकते हैं।

4, रिसेलिंग करके :- अगर आप मार्केटिंग के माहिर है तो आप किसी भी प्रोडक्ट को अधिक क्वांटिटी में उठाइए और ऑनलाइन बेंचिये और आजकल ज्यादातर लोग यही काम कर रहे हैं हां इसमें थोड़ा रिस्क है इसलिए ध्यान से करें।

निष्कर्ष

डिजिटल मार्केटिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसे इंटरनेट और विभिन्न डिजिटल प्लेटफॉर्म्स का उपयोग करके प्रोडक्ट्स और सर्विस को बचा या प्रमोट किया जाता है ताकि उन्हें अधिक से अधिक ग्राहकों तक पहुंचा जा सके और इसे विभिन्न ऑनलाइन चैनल का उपयोग करके किया जाता है जैसे की वेबसाइट, इमेल, सोशल मीडिया, ब्लॉग, यूट्यूब, वेबिनार आदि। डिजिटल मार्केटिंग से एक तो जल्दी से सेल्स जनरेट होती है साथी ब्रांड की लोकप्रियता भी बढ़ती हैं और जल्दी-जल्दी कस्टमर जुड़ते हैं। और यह बहुत कम खर्चीला होता है साथ ही इसके माध्यम से हम दुनिया के किसी भी कोने तक पहुंच सकते आशा करते हैं आपको डिजिटल मार्केटिंग के बारे में अच्छी जानकारी मिल गई होगी ऐसे ही जानकारी पानी के लिए हमारी वेबसाइट से जुड़े रहिए।

Leave a Comment